UA-170179527-1

Dua Upon Sneezing । Cheenkne Ki Dua

Dua Upon Sneezing । Cheenkne Ki Dua

दोस्तों आज हम जानेंगे कि छींक जो अल्लाह ताला की एक नेमत है जिसकी वजह से हमारे दिमाग में हमारे बदन को एक हल्का पन महसूस होता है और हमारे नाक और दिमाग रिफ़्रेश हो जाता है तो उसके बारे में अल्लाह के रसूल ने हमें क्या हुकुम फरमाया है क्या तालीम दी है उसके बारे में जानेंगे और छींक आने पर जो दुआ पढ़ी जाती है।उस बस के बारे में इस टॉपिक Dua Upon Sneezing । Cheenkne Ki Dua में जानेंगे।

Cheenkne Ki Dua। छींक आने पर पढ़ी जाने वाली दुआ।

Dua Upon Sneezing । Cheenkne Ki Dua

अबू हुरैरा रजी0 अल्लाहू अन्हु से रिवायत है की रसूल-अल्लाह सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम ने फरमाया तुम में से किसी को छींक आए तो अलहम्दुलिल्लाह (तमाम तारीफें अल्लाह के लिए है) कहे और उसका भाई या उसका साथी यरहामुकल्लाह (अल्लाह तुम पर रहम करे) कहे, जब साथी यरहामुकल्लाह कहे तो उसके जवाब में छींकने वाला फिर से ये कहे यहदिकुमुल्लाह वा यूस्लिहु बालकूम (यानी अल्लाह तुम्हे सीधे रास्ते पर रखे और तुम्हारे हालत दुरस्त करे)


(सही बुखारी, जिल्द 7, 6224)

Cheenkne ke Adaab। छींकने के आदाब

अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने हमें छींकने के आदाब बताए हुए है।वो ये है

(1) छींकते वक्त अपना चेहरा दाएं या बाएं ना करे है बल्कि अपना चेहरा हाथ या रुमाल से ढक ले।

(2) 3 मर्तबा से ज्यादा छींक आए तो फिर दुआ करना जरूरी नहीं इसलिए कि फिर वह नजला जुखाम है किसी बीमारी की वजह से छींक आ रही है ज्यादा छींकना जुकाम या और किसी चीज की वजह हो सकती है

(3) आप सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने फरमाया छीकने वाले को 3 मर्तबा दुआ करनी चाहिए अगर इससे ज्यादा छीक आए तो उसको जुकाम समझना चाहिए

(4) नबी अकरम सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने फरमाया छीक लेने वाले पर अल्लाह ताला अपनी खुशी का इजहार करता है और जमाई लेने वाले से नाख़ुश होता है लिहाजा जमाई लेने वाले को अपना मुंह जहां तक हो सके बंद रखना चाहिए कोई आदमी जमाई के वक्त हा हा की आवाज ना निकाले क्योंकि यह शैतान की आवाज है जिसे सुनकर शैतान हंसता है।

Masla। मसला

बूढ़ी और बेनकाब औरत की छीक पर मर्द को दुआ करना सही है मतलब उसकी छींक का जवाब दे सकता है मगर पर्दा वाली जवान औरत की छीक पर मर्द का दुआ कहना मकरूह है।

Jazakallah hu khair

  • 49
    Shares

Leave a Comment