UA-170179527-1

Surah Al Qariah in hindi

Surah Al Qariah in hindi

Surah Al Qariah मक्के में नाजिल हुई इसमें 11 आयतें हैं इस सूरह में अल्लाह ने कयामत की हवलनाकी के बारे में और लोगों के अमाल के हिसाब किताब के बारे में जिक्र किया है आज के इस टॉपिक Surah Al Qariah in hindi में हम surah Al Qariah को हिंदी टेक्स्ट में पढ़ेंगे और साथ ही साथ तर्जुमा और तफसीर भी जानेंगे।

Surah Al Qariah

Surah Al Qariah in hindi

बिस्मिल्ला हिररह्मनिर्रहीम

1- अल् कारियह

2-मल कारियह

3- वमा अदराका मल कारिया

4- यौमा यकूनुन नासू कल फराशिल मबसूस

5- वताकूनुल जिबालू कल इहनिल मनफूश

6- फ अम्मा मन सकुलत मवा ज़ीनुहू

7- फहुवा फी ईशा तिर रादिया

8- व अम्मा मन खफ़्फ़त मवा ज़ीनुहु

9- फ उम्मुहु हविया

10- वमा अद्राका मा हिया

11-नारून हमिया

Surah Al Qariah in English

1- Al qaari’ah
2- Mal qaariah
3- Wa maa adraaka mal qaari’ah
4- Yauma ya koonun naasu kal farashil mabthooth
5- Wa ta koonul jibalu kal ‘ihnil manfoosh
6- Fa-amma man thaqulat mawa zeenuh
7- Fahuwa fee ‘ishatir raadiyah
8- Wa amma man khaffat mawa zeenuh
9- Fa-ummuhu haawiyah
10- Wa maa adraaka maa hiyah
11- Naarun hamiyah

Surah Qariyah translation in hindi

शुरू करता हूं अल्लाह के नाम से जो बहुत मेहरबान और निहायत रहम करने वाला है

सबको खड़ खड़ा देने वाला हादसा,

वो खड़खड़ा देने वाला हादसा क्या होगा

और तुम को क्या खबर ,वो खड़खड़ा देने वाला हादसा क्या होगा

जिस दिन इंसान बिखरे हुए परवानों की तरह होंगे

और पहाड़ धूनी हुई रूई की तरह हो जाएंगे

तो जिसके नेक अमाल तराज़ू पर भारी होंगे

वो ऐश में राज़ी और खुश होगा

और जिसके अमाल तराज़ू पर काम होंगे

तो उसका ठिकाना हाविया का गड्ढा होगा

आप को क्या मालूम कि हविया क्या चीज़ है

वो भड़कती हुई तेज आंच का लावा है

Surah Qariah ki Tafseer

इस सूरत में कयामत के मंजर का नक्शा खींचा गया है,और ये बताया गया है कि जिस तरह इस दुनिया में परवाने हैरान और परेशान इधर उधर फिरते है इसी तरह कयामत के दिन इंसान भी इसी तरह मारे मारे फिरेंगे ये हाल सिर्फ उन लोगों का होंगे जिनके नामा ए अमाल में बुराइयां ज़्यादा होंगी

और जिनके नामा ए अमाल में नेकियां ज़्यादा होंगी वो लोग अपनी क़ब्रो से बहुत ही इत्मिनान के साथ उठाए जाएंगे,उन को किसी किस्म की घबराहट नहीं है और ना ही कोई ग़म होगा।

Jazakallah hu khair

Share for khair

 

 

  • 48
    Shares

Leave a Comment