UA-170179527-1

Merry Christmas kehna kaisa hai

Merry Christmas kehna kaisa hai

Merry Christmas meaning

Surah Ikhlaas

Merry Christmas kehna kaisa hai और इसका क्या मतलब है merry Christmas का मतलब है कि “अल्लाह को बेटा हुआ,मुबारक हो,(नाउज़ुबिल्ला)
अगर हम किसी दोस्त को Merry Christmas बोलते है तो हमें पता भी नहीं चलेगा और हम इस्लाम से ख़ारिज हो जाएंगे।
अल्लाह ताला ने क़ुरान मुकद्दस में इरशाद फरमाया है

Allah ki wahdahiyat quran ki roshni me


ऐ नबी (सo) कह दीजिए कि अल्लाह एक है, अल्लाह बे नियाज़ है,वो ना किसी का बाप है और ना किसी का बेटा,और कोई उसके बराबर नही।(surah Ikhlaas)
अल्लाह ताला ने कुरान ए मजीद के दूसरे मकाम पर फरमाया है”और ये लोग(यहूदी और ईसाई) कहते हैं कि रहमान (अल्लाह) बेटा रखता है.ऐसा कहने वालो ये तो तुम बुरी बात जबान पर लाते हो.करीब है कि इस झूठ से आसमान फट पड़े और जमीन फट जाए और पहाड़ टुकड़े-टुकड़े होकर गिर पड़े कि इन लोगों ने रहमान के लिए बेटा बना लिया और रहमान को शाया नहीं कि वह किसी को अपना बेटा बनाएं, हर आदमी जो आसमान और जमीन में है और रहमान के लिए बंदा की तरह ही है Maryam-88-93)

Allah ke Rasool ka Farmaan


हज़रत मुहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया”जिस ने जिस क़ौम का तरीकों का तरीका अपनाया वह उन्हीं में से होगा। (Sunan Abu Daud 3512)
और वैसे भी मोहम्मद रसूलल्लाह सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम ने हम मुसलमानों को कुफ्फार की ईद और जो त्यौहार है उसमें शरीक होने से मना किया है।


नउज़ बिल्ला ईसा अलैहिस्सलाम के पैदा होने की खुशी में ईसाई लोग क्रिसमस सेलिब्रेट करते हैं और मैरी क्रिसमस कहकर एक दूसरे को मुबारकबाद देते हैं


लिहाजा आप तमाम लोगों से मेरी गुजारिश है कि मेरी क्रिसमस कहकर अल्लाह के साथ शरीक़ ना करें और ना ही कुफ्फार की ईदो में शामिल हो।
इसीलिए ना मेरी क्रिसमस कहकर एक दूसरे को मुबारकबाद de  ना किसी भी किस्म की पार्टी में सेलिब्रेशन करें

YE BHI PADHE

Acche Akhlaq ki Ahmiyat aur Fazilat

Salam Karne Ka Sunnat Tarika

75 Good Manners in The Holy Quran

25 Dec kya hai


25 दिसंबर को क्रिश्चियन क्रिसमस के दिन मनाते हैं जो कि उनके मजहबी त्यौहार है अगर आप किसी क्रिश्चियन से पूछा कि 25 दिसंबर को क्रिसमस क्यों मनाते हैं तो वो यह नहीं कहेंगे कि हम अल्लाह के बंदे व रसूल की पैदाइश का दिन मनाते हैं बल्कि वह यह कहते हैं कि 25 दिसंबर को हम अल्लाह के बेटे के बर्थडे मनाते हैं उनका अकीदा है कि ईसा अलैहिस्सलाम अल्लाह के बेटे थे
क्योंकि अल्लाह ताला ने उनको बगैर बाप के पैदा किया था अपने कलिमा ए कुन से जिस तरह आदम अलैहिस्साम को बगैर मां और बाप के पैदा किया इसको उन्होंने गलत समझा


अल्लाह ताला के लिए कोई काम मुश्किल नहीं है वह सिर्फ कहता है कुन यानी हो जा तो वह काम हो जाता है
लेकिन इस बात पर हम यह नहीं कह सकते कि ईसा अलैिस्सलाम नाउ्ज़ु बिल्ला खुदा के बेटे थे अगर हम भी उनके सेलिब्रेशन में शामिल होंगे इसका मतलब होगा कि हम भी वैसे ही मानते हैं जैसा कि ईसाई मानते है जो कि अल्लाह के साथ खुुुुला कुफ्र है


  • और यह बात खााालिके कायनात को गाली देने के बराबर है जो बहुत बड़ा कुफ्र है यह जिंदगी बहुत छोटी है दिन के मामले में बहुत फूंक फूंक कर कदम रखने की जरूरत है कहीं किसी लम्हे शिर्क ना हो जाए सोचना चाहिए कहीं शिर्क तो नहीं हो रहा,कहीं कोई ऐसी बात ना हो जाए जो हमसे कि अल्लाह ताला नाराज हो जाए
    अगर अल्लाह ताला नाराज हुआ तो फिर कौन बचाएगा हमें उसकी सजा से।

Conclusion

आज के इस टॉपिक Merry Christmas kehna kaisa hai पर हमने जाना मेरी क्रिसमस का क्या मतलब होता है इसको कहना चाहिए कि नहीं कहना चाहिए क्रिस्चियन इसे क्यों मनाते हैं इन सब चीजों के बारे में हमने इस टॉपिक में जाना।

अल्लाह ताला से दुआ है कि अल्लाह ताला हम तमाम मुसलमानों को सही समझ आता करें और हमेशा सिराते मुस्तकीम पर कायम रखें आमीन।इस पोस्ट को अपने फैमिली मेंबर और दोस्तों के साथ शेयर करें और आखिरत में अच्छा अज़र पाए।और हमारे व्हाट्सएप ग्रुप पर शामिल होने के लिए अपना नाम और नंबर इस नंबर पर सेंड करें
±60137882817
इस पोस्ट को सब के साथ शेयर करें अगर एक भी आदमी आपकी वजह से इस शिरक से बच जाए तो ये बहुत बड़ा sadqa e zariya होगा।

  • 56
    Shares

1 thought on “Merry Christmas kehna kaisa hai”

Leave a Comment